ए पी सेन महा विद्यालय परिसर जगमगयेगा सोलर स्ट्रीट लाइट से

महाविद्यालय ने नई दिल्ली स्थित इनोवेटिव पावर सॉल्यूशन कंपनी के साथ किया 10 वर्ष का अनुबंध

लखनऊ, उजाला सिटी। ऊर्जा संरक्षण के महत्व एवं सौर ऊर्जा को अधिक से अधिक उपयोग करने के लाभ एवं आवश्यकता के दृष्टिगत शहर के 120 वर्ष पुराने, प्रतिष्ठित, अशासकीय सहायता प्राप्त, ए पी सेन मेमोरियल गर्ल्स पीजी कॉलेज, (पूर्व नाम जुबली डिग्री कॉलेज), ने महत्वपूर्ण कदम उठाते हुए नई पीढ़ी को संदेश देने का प्रयास किया है। अब पूरे परिसर में सड़कें सोलर स्ट्रीट लाइट से जगमग होंगी। इस दिशा में महाविद्यालय ने नई दिल्ली स्थित इनोवेटिव पावर सॉल्यूशन कंपनी के साथ 10 वर्ष का अनुबंध किया है। अनुबंध की शर्तों के अनुसार कंपनी पूरे परिसर में 20 खंभों पर सोलर स्ट्रीट लाइट लगाएगी तथा समय-समय पर उनके इंजीनियर मेंटेनेंस का कार्य भी करेंगे। सोलर पैनल और बैटरी की सहायता से दिन में चार्जिंग होगी तथा अंधेरा होते ही सोलर लाइट जल जाएंगी। सोलर लाइट सिस्टम की सुरक्षा का उत्तरदायित्व महाविद्यालय का होगा। प्राचार्या प्रोफेसर रचना श्रीवास्तव ने बताया कि इस अनुबंध को करने से न सिर्फ महाविद्यालय ने बिजली की बचत की है, वरन अपने सामाजिक उत्तरदायित्व का भी निर्वहन किया है। प्रधानमंत्री मोदी के विकसित भारत 2047 के लक्ष्य को पूरा करने की जिम्मेदारी जिस नई पीढ़ी पर है, ऐसी, महाविद्यालय की छात्राओं को एक बड़ा संदेश देने का प्रयास किया गया है। कार्य प्रारंभ हो चुका है। आशा है कि अगले माह तक पूर्ण हो जाएगा। ज्ञातव्य है कि चारबाग स्थित यह शिक्षण संस्था न केवल छात्राओं को स्नातक/ परास्नातक डिग्री लेने तक सीमित रखती है अपितु उनको भारत का अच्छा नागरिक बनाने हेतु प्रतिबद्ध है। इस दिशा में अनेक प्रयास विगत 2 वर्षों में किए गए हैं। मुख्यमंत्री की अभ्युदय कोचिंग योजना के माध्यम से जहां छात्र छात्राओं को प्रतियोगी परीक्षाओं की निःशुल्क तैयारी यहां कराई जा रही है, वहीं भारत सरकार की समर्थ योजना के अंतर्गत हाथ की कढ़ाई की 3 माह की निःशुल्क ट्रेनिंग भी दी जा रही है। स्वरोजगार देने के उद्देश्य से यहां निर्धन वर्ग की छात्राओं एवं महिलाओं को विधायक सरोजनी नगर डॉक्टर राजेश्वर सिंह के द्वारा अपनी माता की स्मृति में संचालित तारा शक्ति सिलाई केंद्र के माध्यम से सिलाई की ट्रेनिंग देकर रोजगार भी दिया जा रहा है।
अब सोलर स्ट्रीट लाइट लगने से महाविद्यालय ‘गो ग्रीन’ की दिशा में एक कदम बढ़ा चुका है। भविष्य में पूरे परिसर को सोलररूफटॉप के माध्यम से प्रकाशित करने की योजना है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *