मुख्तार अंसारी को श्रधांजलि देने गाजीपुर पहुँचे सपा मुखिया अखिलेश

लखनऊ, उजाला सिटी। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव आज पूर्व विधायक, दिवंगत मुख्तार अंसारी के गाजीपुर जिले के मोहम्मदाबाद स्थित उनके आवास ‘फाटक‘ पहुंचे।
  श्री यादव मुख्तार अंसारी के भाई गाजीपुर के सांसद अफजाल अंसारी, बेटे उमर अंसारी, उनके भतीजे शोएब अंसारी तथा अन्य परिजनों से मुलाकात की और शोक संवेदना प्रकट की। अखिलेश यादव ने मुख्तार अंसारी को श्रद्धांजलि अर्पित की। उन्होंने पूरे मामले की सुप्रीम कोर्ट के सिटिंग जज की निगरानी में न्यायिक जांच कराने की मांग की। भाजपा सरकार पर किसी को भरोसा नहीं है। सरकार न्याय नहीं दिलाएगी।  
   समाजवादी पार्टी के बड़ी संख्या में नेता कार्यकर्ता और गाजीपुर जिले के तमाम लोग भी मौजूद रहे। मीडिया से बात करते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि जब से भाजपा की सरकार आई है संवैधानिक संस्थानों पर भरोसा कम हुआ है। मुख्तार अंसारी ने खुद कहा था कि उन्हें जहर दिया जा रहा है। हमें उम्मीद है की सरकार सच्चाई सामने लाएगी और मुख्तार अंसारी के परिवार वालों को न्याय मिलेगा।
    श्री यादव ने कहा कि जो व्यक्ति इतने वर्षों तक जेल में रहा हो, उसके बाद भी जनता उसे जिता रही हो तो इसका मतलब है कि उस व्यक्ति और उसके परिवार ने जनता के बीच रहकर उनके दुख दर्द में साथ दिया है। आज मीडिया और सोशल मीडिया में तमाम कहानियां है कि किस तरह से इस परिवार ने लोगों के बीच काम किया है और उनके दुख दर्द को बांटता रहा है। यह परिवार जनता के बीच रहता है।
    श्री यादव ने कहा कि हमने हमेशा कहा है कि भाजपा सरकार में लोगों के साथ भेदभाव हो रहा है। देश में सबसे ज्यादा पुलिस हिरासत में मौतें उत्तर प्रदेश में हो रही है। जेल में मौतें होना, थाने में मौतें होना, मुख्यमंत्री आवास के सामने न्याय न मिलने से आत्मदाह की कोशिश जैसी तमाम घटनाएं हो रही है। उत्तर प्रदेश में न्याय न मिलने से तमाम लोगों की जाने गईं है लेकिन इस सरकार को कोई परवाह नहीं है।
    श्री अखिलेश यादव ने कहा कि क्या कोई स्वीकार करेगा कि मुख्तार अंसारी की यह नेचुरल डेथ थी। क्या आम जनमानस में यह भावना नहीं है कि सरकार कुछ छिपा रही है? मुख्तार अंसारी के साथ जेल में जो घटना हुई, सरकार के पास उसका कोई जवाब नहीं है। उन्होंने कहा कि सरकार की जिम्मेदारी हर नागरिक को सुरक्षा देने की होती है। जो सरकार लोगों को सुरक्षा और न्याय नहीं दे सकती है वह सरकार जनता की नहीं हो सकती है।
    अखिलेश यादव ने कहा कि यह लोकतंत्र बचाने का आखिरी चुनाव है। अगर जनता वोट देने नहीं निकलेगी तो लोकतंत्र खत्म हो जाएगा। भाजपा लोकतंत्र को खत्म करने पर तुली है। आज मीडिया पर भी सच न दिखाने का भारी दबाव है। मीडिया सच दिखाने की कोशिश करती है तो उस पर सरकार कार्यवाही की धमकी देती है। पत्रकारों ने भाजपा सरकार के भ्रष्टाचार को उजागर किया तो उन्हें जेल में डाल दिया गया। भाजपा सरकार सरकारी संस्थाओं को खत्म कर रही है। भाजपा सरकार ने जनता के भरोसे और सच्चाई पर आघात किया है।
       

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *