केंद्र सरकार देगी महिला किसानों को ड्रोन

केंद्र सरकार देगी महिला किसानों को ड्रोन

लखनऊ, उजाला सिटी।( राहुल नवरतन बृजवासी
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से नवनियुक्त कर्मियों को 51,000 से अधिक नियुक्ति पत्र वितरित किये। इस अवसर पर प्रधानमंत्री ने नवनियुक्त कर्मियों को संबोधित भी किया।
इसी क्रम में उतर प्रदेश में लखनऊ,कानपुर और गाजियाबाद में रोजगार मेले का आयोजन हुआ। कानपुर में केंद्रीय भारी उद्योग मंत्री डॉ. महेंद्र नाथ पांडे, लखनऊ में केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री अजय कुमार मिश्रा और गाजियाबाद में केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग और नागरिक उड्डयन राज्य मंत्री जनरल (सेवानिवृत्त) डॉ. वी. के. सिंह ने नियुक्ति पत्र किये।
लखनऊ के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में 11 वें रोजगार मेले को संबोधित करते हुये केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री अजय कुमार मिश्रा ने कहा कि जिस तरह से हमारे देश ने हर क्षेत्र में अपनी क्षमता का परिचय दिया है,भारत पूरे विश्व में आकर्षण का केंद्र बन गया है।उन्होंने कहा कि विकसित भारत संकल्प यात्रा के माध्यम से प्रधानमंत्री ने हर नागरिक से भारत को विकसित राष्ट्र बनाने की अपेक्षा की है। उन्होनें कहा कि 2047 तक भारत को विकसित राष्ट्र बनाने के लिए प्रधानमंत्री ने जिन स्तंभों की चर्चा की है,युवा उन प्रमुख स्तंभों में सर्वप्रमुख है।केंद्रीय राज्य मंत्री ने कहा कि युवाओं को सरकारी नौकरियां दिलाने के साथ साथ सरकार ने देश की आंतरिक सुरक्षा और व्यवहारिक विदेश नीतियों के माध्यम से इस तरह का वातावरण बनाया है कि कई विदेशी निवेशक बड़ी संख्या में भारत में निवेश कर रहे है जिससे बड़ी संख्या में युवाओं के लिए प्राइवेट सेक्टर में रोजगार के अवसर पैदा हो रहे है।


उन्होंने कहा कि
मुद्रा लोन योजना के माध्यम से लगभग 40 करोड़ युवाओं को जिसमें से 60% से अधिक महिलाएं है जिनको स्वरोजगार से जोड़ा है।उन्होंने कहा कि
जो लोग कम पढ़े लिखे है लेकिन उनके अंदर पारंपरिक हुनर है. उन्हें प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना के माध्यम से मुख्यधारा में जोड़ा जा रहा है।
केंद्रीय राज्य मंत्री ने कहा कि
पूरे देश में 10 करोड़ से अधिक महिलाओं को रोजगार के काम उपलब्ध कराकर स्वयं सहायता समूह से जोड़ा गया है।उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने महिला किसान ड्रोन केंद्र का उद्घाटन किया है जिससे महिला किसानों को स्वयं सहायता समूह के माध्यम से खेती किसानी के लिए लगभग 15000 करोड़ का लोन तीन वर्षों में दिया जाएगा जिससे बड़ी संख्या में रोज़गार का सृजन होगा।
यह रोजगार मेला देश भर के 37 स्थानों पर आयोजित किया गया था। इस पहल का समर्थन करने वाले केन्द्र सरकार के विभागों के साथ-साथ राज्य सरकारों/केन्द्र- शासित प्रदेशों में भर्तियां की जा रही हैं। देश भर से चुने गए नए कर्मचारी सरकार के राजस्व विभाग, गृह मंत्रालय, उच्च शिक्षा विभाग, स्कूल शिक्षा और साक्षरता विभाग, वित्तीय सेवाएं विभाग, रक्षा मंत्रालय, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय तथा श्रम और रोजगार मंत्रालय सहित विभिन्न मंत्रालयों/विभागों में योगदान करेंगे।
यह रोजगार मेला रोजगार सृजन को सर्वोच्च प्राथमिकता देने की प्रधानमंत्री की प्रतिबद्धता को पूरा करने की दिशा में एक कदम है। इस रोजगार मेले से आगे और रोजगार सृजित करने की दिशा में एक उत्प्रेरक के तौर पर कार्य करने और युवाओं को अपना सशक्तिकरण करने एवं राष्ट्रीय विकास में भागीदारी हेतु सार्थक अवसर प्रदान किए जाने की उम्मीद है।
नवनियुक्त कर्मी अपने रचनात्मक विचारों और भूमिका-संबंधी दक्षताओं के माध्यम से अन्य बातों के साथ-साथ देश के औद्योगिक, आर्थिक एवं सामाजिक विकास को मजबूत करने के कार्य में योगदान देंगे, जिससे प्रधानमंत्री के विकसित भारत की परिकल्पना को साकार करने में मदद मिलेगी।
नवनियुक्त कर्मियों को आईजीओटी कर्मयोगी पोर्टल पर एक ऑनलाइन मॉड्यूल कर्मयोगी प्रारंभ के माध्यम से स्वयं को प्रशिक्षित करने का अवसर भी मिलेगा। आईजीओटी कर्मयोगी पोर्टल पर ‘कहीं भी किसी भी उपकरण पर’ सीखने के प्रारूप में 800 से अधिक ई-लर्निंग पाठ्यक्रम उपलब्ध कराए गए हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *