शिवनादर यूनिवर्सिटी ने 2020-22 के एमबीए प्रोग्राम के लिए प्रवेश प्रक्रिया की घोषणा

शिवनादर यूनिवर्सिटी ने 2020-22 के एमबीए प्रोग्राम के लिए प्रवेश प्रक्रिया की घोषणा   लखनऊ।शिव नादर यूनिवर्सिटी, भारत कीअग्रणी शोध केंद्रित बहुविषयक यूनिवर्सिटी, ने आज जुलाई, 2020 से शुरू होने वाले शैक्षिक सत्र केलिए अपने एमबीए प्रोग्राम कीएडमिशन प्रक्रिया प्रारंभ करने कीघोषणा की यह स्कूल मैनेजमेंटस्टडीज़ में बैचलर्स और डॉक्टोलप्रोग्राम भी प्रदान करता है। इच्छुकआवेदकों को 15 फरवरी, 2020 तक www.sme.snu.edu.inपर उपलब्ध ऑनलाईन कॉमनएप्लीकेशन फॉर्म भरना होगा। यूनिवर्सिटी अपने दो अद्वितीयअभियानों द्वारा विद्यार्थियों कोग्लोबल लीडर्स के रूप में विकसितकरने के अपने प्रयास जारी रखेगीः ग्लोबल इमर्शन प्रोग्राम-इसके तहत विद्यार्थियों कोलंदन में यूनिवर्सिटी ऑफवारविक में तीन हफ्ते तकअध्ययन करने के लिए 2.5 लाख रु.की स्कॉलरशिपमिलेगी। यहां उन्हें अंतर्राष्ट्रीयफैकल्टी एवं गेस्ट स्पीकर सेलर्निंग का एक्सक्लुसिवअवसर मिलेगा। मैरिट आधारितस्कॉलरशिप- प्रतिभाशालीविद्यार्थियों स्कॉलरशिपमिलेगी, जो 100 प्रतिशत तकट्यूशन फीस कवर करती हैं। डॉ. शुभ्रो सेन, डायरेक्टर, स्कूलऑफ मैनेजमेंट एण्डइंटरप्रेन्योरशिप ने कहा, ‘‘शिवनादर यूनिवर्सिटी में हमारा निरंतरप्रयास है कि हम अपने विद्यार्थियोंको उद्योग के लिए तथा निरंतरविकसित होती डिजिटल दुनिया मेंनेतृत्व करने के लिए तैयार करें।मैनेजमेंट प्रोग्राम के तहत प्रस्तुतहमारा विश्वस्तरीय कॅरिकुलमसर्वोच्च रैंकिंग वाली टीचिंगफैकल्टी द्वारा डिज़ाईन किया गयाहै, ताकि विद्यार्थियों का लर्निंग काअनुभव सर्वश्रेष्ठ रहे और उन्हेंबहुमूल्य ग्लोबल एक्सपोज़रमिले।” स्कूल ऑफ मैनेजमेंट एवंइंटरप्रेन्योरशिप का मार्गदर्शनकरने वाले, प्रतिष्ठित एडवाईज़रीबोर्ड में शिव नादर यूनिवर्सिटी,हार्वर्ड बिज़नेस स्कूल,एचएएएस स्कूल ऑफ बिज़नेस,यू. सी. बर्कले एवं आईआईएम,कलकत्ता की फैकल्टी शामिलहै। इस सूची में शामिल हैं: डॉ. श्रीकांत दतार – अमेरिकन इकॉनामिस्ट, जो कॉस्टमैनेजमेंट एवं मैनेजमेंट कंट्रोलएरियाज़ पर केंद्रित है। वर्तमान मेंहार्वर्ड बिज़नेस स्कूल में आर्थरलोवेस डिकिंसन प्रोफेसर ऑफबिज़नेस एडमिनिस्ट्रेशन हैं। वोआईसीएफ इंटरनेशनल इंक., नोवार्टिस एजी, स्ट्राईकर कार्प एवंटी-मोबाईल, यूएस के बोर्ड ऑफडायरेक्टर्स के सदस्य हैं। वोअमेरिकन अकाउंटिंग एसोसिएशनएवं इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंटअकाउंटैंट्स के सदस्य हैं। प्रो. शेखर चौधरी – आईआईएम-सी के पूर्व डायरेक्टरहैं एवं स्कूल ऑफ मैनेजमेंट एवंइंटरप्रेन्योरशिप, शिव नादरयूनिवर्सिटी के फाउंडिंग डायरेक्टरहैं। प्रो. चौधरी को उद्योग एवंएकेडेमिया में 40 सालों से अधिकसमय का अनुभव है। 3.डॉ. ऋषिकेशकृष्णन – प्रोफेसर कृष्णन के मुख्यएरिया ऑफ इंटरैस्ट स्ट्रेट्जी एवंइनोवेशन हैं। वो सेंटर फॉर दएडवांस्ड स्टडी ऑफ इंडिया,यूनिवर्सिटी ऑफ पेनसिल्वेनिया(फॉल 2008) और इंडियन स्कूलऑफ बिज़नेस (आईएसबी), हैदराबाद (2011-12) केविज़िटिंग स्कॉलर थे। उन्होंने2007-10 तक आईआईएमबी मेंजमुनाराघवन चेयर इनइंटरप्रेन्योरशिप का आयोजनकिया। पूर्व में एमबीए प्रोग्राम में ग्रेजुएटकर चुके विद्यार्थी प्रतिष्ठित संगठनों, जैसे आईटीसी, वोल्टास, अमूल, पेटीएम आदि में काम कर रहे हैं। एडिटर के लिए नोट्सः स्कूल ऑफ मैनेजमेंट एण्डइंटरप्रेन्योरशिप (एसओएमई) केबारे में: शिव नादर यूनिवर्सिटी के स्कूलऑफ मैनेजमेंट एण्डइंटरप्रेन्योरशिप (एसओएमई) कीस्थापना सन, 2014 में की गई थी।इसका उद्देश्य एक प्रीमियमबिज़नेस स्कूल की स्थापना करनाथा, जो भारत में स्थित हो, पर विश्वको सेवाएं प्रदान करता हो। यहबिल्कुल नीचे से निर्मित किया गयाहै, जिसमें सर्वोच्च शैक्षिक संस्थानोंसे प्रतिष्ठित एवं उच्च सामथ्र्य कीफैकल्टी की नियुक्ति की गई है; नवीनतम एजुकेशनल टेक्नॉलॉजीएवं इन्फ्रास्ट्रक्चर, जैसे फाईनेंशलट्रेडिंग, इनोवेशन प्रोटोटाइपिंग और‘डिजिटल एक्सपीरियंस’ लैब्स मेंनिवेश किया गया है और उन्नतएक्सपीरियंशल लर्निंग, इनक्यूबेशनतथा इंटरप्रेन्योरशिप के लिए गहनविद्यार्थी-केंद्रित आधार की स्थापनाकी गई है। बैबसन कॉलेज  के साथअपने सहयोग के चलते और हालही में दुनिया के नं. 1 इंटरप्रेन्योरशिप प्रोग्राम के रूप मेंरेटिंग पाने के बाद, एसओएमईदोनों प्रोग्राम्स में इंटरप्रेन्योरशिप परविशेष केंद्रण कर रहा है, जिसमेंइसके ओवरसीज़ पार्टनर कैंपस मेंएक सेमिस्टर बिताने का अवसरशामिल है। शिव नादर यूनिवर्सिटी, नेशनलकैपिटल रीजन (एनसीआर) केबारे में शिव नादर फाउन्डेशन के तहत्कार्यरत शिव नादर यूनिवर्सिटी(www.snu.edu.in) विभिन्न क्षेत्रों/विषयों में पाठ्यक्रमों की पेशकशकरने वाली छात्र-केंद्रित यूनीवर्सटीहै जो अंडरग्रेजुएट, पोस्टग्रेजुएटतथा डॉक्टरल स्तर के प्रोग्रामों कीपेशकश करती है। एसएनयू केमल्टी-डिसीप्लीनरी प्रोग्राम छात्रोंको मानविकी तथा समाज विज्ञान,प्राकृतिक विज्ञान, टेक्नॉलॉजी औरइंजीनियरिंग के अलावा कला एवंसंचार तथा प्रबंधन में मजबूतबुनियाद का लाभ दिलाने के साथउन्हें उनके मनपसंद विषय मेंपारंगत भी बनाते हैं। एसएनयू केअंडरग्रेजुएट पाठ्यक्रमों को विश्वस्तरीय फैकल्टी द्वारा संचालितकिया जाता है और ये छात्रों को21वीं सदी में कॅरियर में सफलताप्राप्त करने के लिए तैयार करने केलिहाज से तैयार किए गए हैं।भारत के राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में286 एकड़ क्षेत्रफल में स्थापितशिव नादर यूनिवर्सिटी निजीपरोपकारी संस्थान है जिसकीस्थापना 2011 में उत्तर प्रदेशशासन द्वारा एक अधिनियम केतहत् की गई थी। शिव नादरयूनिवर्सिटी को एमएचआरडी,भारत सरकार द्वारा इंस्टीट्यूट ऑफएमिनेंस (आईओई) चुना गया हैऔर एनएएसी द्वारा इसे ग्रेड ‘ए’ दिया गया है। शिव नादर फाऊन्डेशन के बारेमें: शिव नादर फाऊन्डेशन(www.ShivNadarFoundation.org)विश्व के 45 देशों में 149,000 सेज्यादा कर्मचारियों के साथ 9‐6 बिलियन डॉलर की अग्रणी ग्लोबलटेक्नॉलॉजी एवं आईटी कंपनी है।इसकी स्थापना एचसीएल केफाऊन्डर शिव नादर ने की है।1976 में स्थापित एचसीएल भारतके ओरिज़नल आईटी गैरेज़स्टार्टअप्स में से एक है और विविधबिज़नेस संबंधी तकनीकी समाधानपेश करता है, जिनमें संपूर्णहार्डवेयर और सॉफ्टवेयर  स्पेक्ट्रमके साथ औद्योगिक वर्टिकल्स कीश्रृंखला शामिल हैं। यह फाऊन्डेशन व्यक्तियों कोसामाजिक-आर्थिक अंतर को दूरकरने में समर्थ बनाकर एक बराबरीके और मेरिट पर आधारित समाजके निर्माण के लिए समर्पित है। इसलक्ष्य के लिए यह फाउन्डेशनभारत में ट्रांसफॉर्मेशनल शिक्षा, रचनात्मकता और कला से संबंधितअविकसित डिसिप्लिनरी क्षेत्रों परकेन्द्रित है। इस फाऊन्डेशन ने 1996 मेंएसएसएन इंस्टीट्यूशंस(www.SSN.edu.in) की स्थापनाकी, जिनमें चेन्नई, तमिलनाडु मेंभारत का प्रतिष्ठित प्रायवेटइंजीनियरिंग कॉलेज -एसएसएनकॉलेज  ऑफ इंजीनियरिंग शामिलहै। इस फाउंडेशन ने विद्याज्ञान कीस्थापना भी की है, जो उत्तरप्रदेशके बुलंदशहर एवं सीतापुर मेंप्रतिभाशाली ग्रामीण बच्चों के लिएआवासीय लीडरशिप एकेडमी है।इसके अलावा यह फाउंडेशन शिवनादर स्कूल(www.shivnadarschool.edu.in) भीचलाता है, जो भारत में प्रगतिशीलशहरी स्कूलों का नेटवर्क है औरबच्चों को ऐसी शिक्षा प्रदान करताहै, जो उन्हें जीवनपर्यंत लर्नर्सबनाती है। इस फाउंडेशन ने किरननादर म्यूज़ियम ऑफ आर्ट(www.knma.in) की स्थापना भीकी है, जो आधुनिक और सामयिककला में भारत का सबसे बड़ाप्राईवेट उदारवादी म्यूज़ियम है।इसका लक्ष्य कला को आम लोगोंतक पहुंचाना है।  

Read more

राजधानी में गुड्स परिवहन एसोसिएशन का गठन

राजधानी में गुड्स परिवहन एसोसिएशन का गठन लखनऊ। राजधानी में गुड्स परिवहन एसोसिएशन का गठन हुआ जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में माननीय पूर्व कैबिनेट मंत्री ओपी सिंह एवं आर्य नगर सभासद राजू गांधी  एवं लखनऊ ट्रक ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन अध्यक्ष राजेश सिंह चौहान  लखनऊ व्यापार मंडल अध्यक्ष कमल पाल सिंह सेठी  सभी ट्रांसपोर्ट नगर के वरिष्ठ सदस्य एवं पदाधिकारी मौजूद […]

Read more

वरिष्ठ पत्रकार अरविंद शुक्ला पंचतत्व में विलीन, छोटी बेटी अंबिका ने मुखाग्नि दी

वरिष्ठ पत्रकार अरविंद शुक्ला पंचतत्व में विलीन, छोटी बेटी अंबिका ने मुखाग्नि दी मुख्यमंत्री ने शुक्ल के निधन पर शोक व्यक्त किया: एनेक्सी मीडिया सेंटर में शोक सभा आज लखनऊ। लखनऊ एवं इंदौर से प्रकाशित साप्ताहिक “स्पूतनिक” के लखनऊ संस्करण के प्रकाशक वरिष्ठ पत्रकार अरविंद शुक्ला का आज दोपहर भैंसाकुंड बैकुंठधाम पर काफी गमगीन माहौल में अंतिम संस्कार कर दिया […]

Read more

सीधी और सरल रेखाएं मानस पटल पर तीव्र और गहरी प्रभाव छोड़ती हैं – अरुण सिंह

सीधी और सरल रेखाएं मानस पटल पर तीव्र और गहरी प्रभाव छोड़ती हैं – अरुण सिंह अलीगंज ललित कला अकादमी क्षेत्रीय केंद्र में शीर्षक “इमेजेस फ्रॉम एजेस” प्रदर्शनी का शुभारंभ लखनऊ । जब मनुष्य को लिखना भी नहीं आता था या कोई भाषा बोलना भी नहीं जानते थे उससे भी पहले कला का इतिहास है जिसका प्रमाण हमारे सामने मौजूद […]

Read more

मीडिया फोटोग्राफर्स क्लब का प्रयास पत्रकारिता के हित में है : शिशिर, सूचना निदेशक

सूचना निदेशक ने छायाकारों को वितरित किए दुर्घटना बीमा बांड, मीडिया फोटोग्राफर्स क्लब ने करवाया है बीमा छायाकार मेरे दिल के बहुत करीब हैं : सूचना निदेशक शिशिर मीडिया फोटोग्राफर्स क्लब का प्रयास पत्रकारिता के हित में है : शिशिर, सूचना निदेशक लखनऊ। मीडिया फोटोग्राफर्स क्लब के प्रयास को पत्रकारिता के हित में बताते हुए सूचना निदेशक शिशिर ने कहा […]

Read more

कार्तिक पूर्णिमा पर अहिनवार सिद्धपीठ में भक्तों ने लगाई श्रद्धा की डुबकी

कार्तिक पूर्णिमा पर अहिनवार सिद्धपीठ में भक्तों ने लगाई श्रद्धा की डुबकी यहीं देवराज नाहुष ने यक्ष बन पाण्डवों से पूछे थे प्रश्न विश्व वैदिक विद्यालय की स्थापना करना चाहते हैं पीठाधीश्वर लाल बहादुर चंद्रवंशी लखनऊ। मोहनलालगंज स्थित देवराज नाहुष अहिनवार धाम में गंगा स्नान के अवसर पर भारी भीड़ उमड़ी। यहां के सरोवर में ही राजा नाहुष ने पाण्डवों […]

Read more

ईशा-मीशा ने दिखाई साधना उत्सव में प्रतिभा पाया कथक गुरुओं का आशीष

ईशा-मीशा ने दिखाई साधना उत्सव में प्रतिभा पाया कथक गुरुओं का आशीष नई दिल्ली, लखनऊ की नवयुवा नृत्यांगना जोड़ी ईषा रतन व मीषा रतन को पद्मविभूशण पंडित बिरजू महाराज के संरक्षण में प्रारम्भ किये गये ‘साधना उत्सव-2019’ में युवा प्रतिभाओं के रूप प्रदर्षन किया। कथक को समर्पित पं.बिरजू महाराज की संस्था कलाआश्रम ने त्रिवेणी सभागार नई दिल्ली मंे अंतर्राश्ट्रीय स्तर पर […]

Read more

टैगोर अंतर्राष्ट्रीय साहित्य एवं कला महोत्सव में भाग लेंगे युवा चित्रकार एवं लेखक भूपेंद्र अस्थाना

टैगोर अंतर्राष्ट्रीय साहित्य एवं कला महोत्सव में भाग लेंगे युवा चित्रकार एवं लेखक भूपेंद्र अस्थाना – भोपाल मध्यप्रदेश में 4 से 10 नवंबर 2019 तक जुटेंगे विश्व भर से कला ,साहित्य व संस्कृति से जुड़े लोग। लखनऊ । मध्यप्रदेश भोपाल के स्थान अंतरंग, भारत भवन में सात दिवसीय ” टैगोर अंतर्राष्ट्रीय साहित्य एवं कला महोत्सव – विश्वरंग का आयोजन किया […]

Read more

मालिनी की गायकी ने दिलाई बेगम अख्तर की याद 

मालिनी की गायकी ने दिलाई बेगम अख्तर की याद  लखनऊ। ग़ज़लगोई की अपनी मखमली आवाज के लिए मशहूर पद्मभूषण बेगम अख्तर की यादों को आज पद्मश्री मालिनी अवस्थी ने ताजा कर दिया। बेगम अख्तर की याद में उत्तर प्रदेश संगीत नाटक अकादमी की ओर से उनकी पुण्यतिथि पर संत गाडगेजी महाराज प्रेक्षागृह गोमतीनगर में ‘यादें’ शीर्षक के अंतर्गत मालिनी अवस्थी के […]

Read more

उत्तर प्रदेष की सौम्या मिश्रा ने कनाडा के टोरंटो में रचा इतिहास 

उत्तर प्रदेष की सौम्या मिश्रा ने कनाडा के टोरंटो में रचा इतिहास टोरंटो, कनाडा- रामलीला भारतीय संस्कृति का एक अभिन्न अंग रहा है, जो प्रेम, साहस और विश्वासघात की एक उत्कृष्ट गाथा है। इस वर्ष टीम रेडियो ढिशूम, टोरंटो इस महाकाव्य की उत्कृष्ट गाथा को एक नये आयाम पर ले गया। 75 से अधिक अभिनेताओं, फोटोग्राफरों, स्वयंसेवकों एवं मेकप कलाकारों […]

Read more
1 2 3 7