मंत्रोच्चार व शंखध्वनी के बीच उगते सूर्य को अर्घ्य देकर हुआ नव संवत्सर का स्वागत

मंत्रोच्चार व शंखध्वनी के बीच उगते सूर्य को अर्घ्य देकर हुआ नव संवत्सर का स्वागत
लखनऊ, गोमती नदी के तट पर शनिवार को भोर में मंत्रोच्चार व शंखध्वनि के बीच उगते सूर्य को अर्घ्य देकर नव संवत्सर का स्वागत किया गया। लोगों ने चंदन लगाकर एक दूसरे को नववर्ष की शुभकामनाएं दी। श्रीराम जन्मभूमि पर भव्य राम मंदिर निर्माण में आने वाली बाधा को दूर करने के लिए सर्वसर्वार्थसिद्धि योग के शुभ मुहूर्त में गोमती के तट पर मृत्युंजय घाट पर सभी कार्यकार्यकर्ताओं ने विजय महामंत्र ‘श्रीराम, जय राम, जय-जय राम’ की तेरह मालाओं का जाप किया गया। गोमती का तट श्रीराम, जय राम, जय-जय राम के मंत्रोच्चार से गूंज उठा। वहीं, शंखध्वनि के बीच उगते सूर्य को अर्घ्य के साथ नवसंवत्सर का स्वागत किया गया। स्वयंसेवकों ने आद्य सरसंघचालक प्रणाम किया।
हिन्दू नववर्ष पर संघ कार्यकर्ताओं ने गोमती तट पर शंखध्वनि के साथ सुबह उगते सूर्य को अर्घ्य दिया। इस अवसर पर तुषार सहाय और प्रज्ञा विवेक मिश्रा द्वारा शास्त्रीय संगीत पेश किया गया। कार्यक्रम के बाद कार्यकर्ताओं ने अम्बेडकर प्रतिमा पर भी माल्यार्पण किया। 
हिन्दुत्व की ओर झुक रही दुनिया – प्रशान्त भाटिया
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ अवध प्रान्त के सह प्रान्त कार्यवाह प्रशान्त भाटिया ने इस मौके पर कहा कि पहले लोग अपने को हिन्दू कहने में संकोच करते थे। लेकिन आज पूरी दुनिया हिन्दुत्व की ओर झुक रही और लोग हिन्दू होने पर गर्व महसूस कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि पहले भारत में जाति प्रथा नहीं थी। धर्म और जाति में बटने के कारण हम संकुचित होते चले गये और अपने आप को भूल गये। वह शनिवार को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ संवाद नगर द्वारा वर्ष प्रतिपदा के मौके पर रीवर फ्रन्ट में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि संघ व्यक्तिवादी नहीं तत्ववादी संगठन है। यही कारण है कि 1925 में नागपुर में डॉ. हेडगेवार द्वारा स्थापित संघ आज भी उसी उद्देश्य को लेकर कार्य कर रहा है। जबकि इसके बाद में बने कई संगठन लुप्तप्राय हो गये हैं। उन्होंने कहा कि संघ कहता है कि व्यक्ति के पीछे न चलें विचार को लेकर चलें और स्वयंसेवक समाज के सामने अपना उदाहरण प्रस्तुत करें। प्रशान्त भाटिया ने कहा कि आज विदेश में 11 हजार शाखाएं लगती हैं। वहीं, देश में हमारा विचार प्रभावी हो रहा है। लेकिन इस समय स्वयंसेवकों को विशेष रूप से सतर्क रहने की जरूरत है।
कार्यक्रम की अध्यक्षता ऋषि टण्डन ने की। इस मौके पर संघ के वरिष्ठ प्रचारक व विश्व संवाद केन्द्र के कार्यालय प्रमुख जागेश्वर, अवध प्रान्त के सह प्रचार प्रमुख दिवाकर अवस्थी, संघ प्रचारक लक्ष्मीकान्त, लखनऊ दक्षिण भाग के सायं प्रचारक प्रेम प्रकाश, विभाग के सम्पर्क प्रमुख पंकज अग्रवाल, संवाद नगर के नगर संघचालक राम औतार अग्रवाल, सह नगर संघचालक गंगा प्रसाद,बृजनन्दन और सेवा भारती के महानगर संयोजक रवीन्द्र सिंह गंगवार प्रमुख रूप से उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *