नन्हें मुन्नों ने दिखाई अपनी प्रतिभा

-नन्हे-मुन्ने बच्चों ने मंच पर दिखाई अपनी प्रतिभा –
लखनऊ। उत्तरायणी कौथिग में आज दूसरे दिन प्रथम सत्र के सांस्कृतिक कार्यक्रमों के अतिरिक्त नन्हे-मुन्ने बच्चों ने मंच पर दिखाई अपनी प्रतिभा।
प्रथम सत्र का शुभारम्भ बेबी शो प्रतियोगिता से हुई जिसमें 0 से 1 वर्ग में इतिस चिलकोटी-प्रथम, 01-02 वर्ष में-उर्वांश पन्त-प्रथम, विहान पाण्डेय एवं सारांस सातवानी-द्वितीय, वैष्णवी जोशी एव आर0 एस0 बड़ोनी को सांत्वना पुरस्कार। बेबीशो में निर्णायक-अंजनी बौनाल, डाॅ0 भीम सिंह नेगी।
नृत्य प्रतियोगिता में कुल 65 प्रतियोगियों ने भाग लिया जिसमें
13 से अधिक आयु वर्ग में शान्ति नेगी.-प्रथम, अनामिका शर्मा-द्वितीय, राजवंश-तृतीय रहे, जूही पालीवाल को.-सांत्वना पुरस्कार तथा 9 से 13 वर्ष आयु वर्ग में विदुषी सिंह-प्रथम, हर्षिता सिंह-द्वितीय, उन्नति मेहरा-तृतीय तथा अशिका पाठक, सुकृति गुप्ता को सांत्वना पुरस्कार आन्या मदार-तृतीय, मिशिक्ता श्रीवास्तव.-सांत्वाना पुरस्कार। 03 से 08 आयुवर्ग में तान्या श्रीवास्तव(6वर्ष)-प्रथम, तान्या श्रीवास्तव(7 वर्ष)-द्वितीय, आन्या मदार-तृतीय, मिशिका श्रीवास्तव, वेदांशी सिंह.-सांत्वना पुरस्कार तथा एकाग्र द्विवेदी को विशेष पुरस्कार। निर्णायक मण्डल में आकांक्षा आनन्द, निशि मिश्रा, के0 पी0 गुसांई थे। प्रतियोगिता संचलान में महेन्द्र पन्त, हेमन्त सिंह गड़िया, गोपाल गैलाकोटी, बाॅबी जेठा, शंकर ध्यानी थे।
आज उत्तरायणी कौथिग में अपार भीड़ रही, मेले में उत्तराखण्ड की प्रसिद्ध बालमिठाई की दुकानों पर बड़ी भीड़ रही, दुकानदारों ने बताया कि मेले मंे आने वाले दर्शकों को पहाड़ की दालें, मडुवेका आटा, झुगरे का चावल लोगों के बीच आकर्षण का केन्द्र बना हुआ है, लोगों ने इनका स्वाद लेने के लिए इन्हें खरीद भी रहे हैं। इसके अतिरिक्त कश्मीरी कहवा, अंजीर, केशर, अमलोक, अखरोट की छाल सर्दी जुकाम, जोड़ों में दर्द, दांतों की परेशानी व पेट की परेशानियों से स्वास्थ्य लाभ के लिए खरीद रहे हैं। इस बार मेला परिसर बड़ा व्यवस्थित ढंग से सजाया गया जिससे आने वाले मेलार्थियों को घूमने में आसानी हो सके।
कौथिग स्थल पर डाॅ भीम सिंह नेगी के नेतृत्व में विशाल चिकित्सा शिविर का आयोजन किया जा रहा है, जिसमें मुख्य रूप से बी0एम0डी0, शुगर, दमा अस्थमा, हिमोग्लोबिन निःशुल्क जांच परामर्श डा0 बी0 एस नेगी व अन्य विशेषज्ञ डाक्टरों के द्वारा किया जाएगा।
सायंकालीन सांस्कृतिक सत्र में आज मुख्य अतिथि अमेरिका से आए समाज सेवी मोहन काला एवं विषिष्ट अतिथि रिटा0 मेजर जनरल राजीव पन्त, मेजर जनरल डी0 एस0 भाकुनी थे। पर्वतीय महापरिषद के शीर्षक गीत एवं वन्दना के पश्चात् खटीमा, उत्तराखण्ड से आए व्याख्या जनजागृति समिति ने जबरदस्त कार्यक्रम प्रस्तुत किए। इसके अतिरिक्त पर्वतीय महापरिषद के कलाकारों ने शानदार प्रस्तुतियों दी।
इस अवसर पर मोहन सिंह मोना, रमेश चन्द्र पाण्डेय, हेमन्त सिंह गड़िया, रमेश उपाध्याय, के0 एन पाण्डेेय, दीवान सिंह अधिकारी, गणेश चन्द्र जोशी एडवोकेट, बाबी जेठा, आनंद सिंह भण्डारी, सी0डी0 जोशी, के0 एन0 पाटनी, गोपाल दत्त गरवाल, गाविन्द बोरा, ओ0पी0 भारद्वाज, शंकर पाण्डेय, गोविन्द पाठक आदि कार्यकर्ताओं का योगदान सराहनीय रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *